Breaking News : दिल्ली में फिर लगेगा लॉकडाउन, केजरीवाल सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम.

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार को एक प्रस्ताव भेजा है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और बताया कि हमने केंद्र सरकार को छोटे स्तर पर लॉकडाउन के लिए एक प्रस्ताव भेजा है. यह आंशिक लॉकडाउन होगा.

इसके साथ ही सीएम केजरीवाल ने उन बाजारों को भी बंद करने की बात कही जहां कोरोना के मामले सामने आए हैं. दिल्ली में शादी समारोह में आने वाले लोगों की संख्या भी घटाई गई है. शादी समारोह में अब केवल 50 लोग ही शामिल हो सकते हैं. सीएम केजरीवाल ने कहा कि भीड़ बढ़ने पर या कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने पर बाजार बंद कर दिए जाएंगे.

शादियों में शामिल हो सकेंगे सिर्फ 50 लोग : केजरीवाल ने कहा कि ​कोरोना की स्थिति को ​देखते हुए कुछ अहम निर्णय किए गए हैं. कुछ समय पहले दिल्ली में जब कोरोना के मामले कम हुए थे, कोरोना ​की स्थिति में सुधार हुआ था तो दिल्ली सरकार ने केंद्र की गाइडलाइंस के मद्देनजर शादियों में 50 से बढ़ाकर 200 तक लोगों के शामिल होने को मंजूरी दी गई थी. लेकिन अब इस आदेश को वापस लिया जा रहा है. अब इसे फिर से 200 से घटाकर 50 किया जा रहा है.

सीएम केजरीवाल ने कहा कि ये प्रस्ताव एलजी साहब के पास मंजूरी के लिए भेजा गया है. उम्मीद है कि जल्द ही इस पर उनका अप्रूवल आ जाएगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिवाली के समय कुछ बाजारों में लोगों ने कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया जिसकी वजह से कोरोना तेजी से फैला है. हमने इसे लेकर केंद्र सरकार को प्रस्ताव को भेजा है कि अगर मामले बढ़ते हैं और कोई बाजार लोकल कोरोना हॉटस्पॉट बन सकता है तो उसे बंद किया जाए.

दिल्ली में क्यों बढ़े कोरोना के मामले?

● खरीदारी में लापरवाही.

● त्योहार पर बाजार में भारी भीड़.

● ज्यादा टेस्टिंग.

● देश के कई बड़े थोक बाज़ार.

अब आपको दिल्ली में कोरोना पर अहम बातें बताते हैं :

● बीते 10 दिनों काफी तेज़ी से नए मामले बढ़े.

●  एक दिन में 8000 से भी ज्यादा मामले सामने आए.

● प्रदूषण, ज्यादा टेस्टिंग, लापरवाही से बढ़े मामले.

●  गृहमंत्री अमित शाह ने बैठक की, कई फैसले लिए गए.

इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ‘लॉकडाउन की जरूरत नहीं’ : इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा था कि तीसरी वेव का पीक ओवर हो चुका है इसलिए लॉकडाउन की जरूरत नहीं है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दिल्ली की 29% जनता का हम टेस्ट कर चुके हैं. होम आइसोलेशन की वजह से केस नहीं बढ़ रहे हैं. दिल्ली में 16500 बेड कोरोना के लिए हैं. प्राइवेट अस्पतालों में बेड की थोड़ी दिक्कत है क्योंकि, सब प्राइवेट अस्पतालों में जा रहे हैं.

सत्येंद्र जैन ने कहा कि अब वेव का पीक ओवर हो चुका है. लेकिन वेव ओवर नहीं हुआ है : उन्होंने बताया कि पिछले एक हफ्ते के अंदर पॉजिटिविटी दर 15% से घटकर 13% हो गई है. ये थर्ड वेव जरूर है लेकिन पीक अब जा चुका है. दिल्ली में मृत्यु दर 1.58% है जो कि राष्ट्रीय औसत मृत्यु दर 1.48% के पास है.

बता दें कि दिल्ली (Delhi) में कोरोना (Coronavirus) संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. सोमवार को 24 घंटे में 3797 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं और 99 लोगों की मौत हुई है. हालांकि, इतने ही समय में 3,560 लोग रिकवर हुए हैं

दिल्ली में अब तक 4,89,202 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं और इनमें से 4,41,361 लोग ठीक हो चुके हैं. अब तक 7,713 लोगों की मौत हुई है और इस समय 40,128 लोगों का इलाज चल रहा है.

पिछले सप्ताह बुधवार को दिल्ली में 8 हजार से अधिक नए मामले​ : उन्होंने कहा कि लॉकडाउन (Lockdown) के जरिए संक्रमण पर काबू नहीं किया जा सकता और लोगों को मास्क पहनकर अपना बचाव करना चाहिए. दिल्ली में 28 अक्टूबर के बाद से कोरोना वायरस के मामलों में काफी बढ़ोतरी दर्ज की गई, जब पहली बार पांच हजार से अधिक नए मामले सामने आए थे.

पिछले सप्ताह बुधवार को दिल्ली में आठ हजार से अधिक नए मामले सामने आए थे. वहीं, गुरुवार को बीते पांच महीने में पहली बार सबसे ज्यादा 104 लोगों की मौत हुई थी.