57 प्रशिक्षु IAS पाए गए कोरोना पॉजिटिव ,देहरादून राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी को किया गया बंद..

 

एक तरफ जहां कोरोना की वैक्सीन तलाशने की कवायद तेज हो गई है तो वहीं दूसरी और कोरोना वायरस का कहर देशभर में लगातार जारी है. अब यह आग देहरादून स्थित लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी तक पहुंच चुकी है. अकादमी में 57 प्रशिक्षु अधिकारी यानि की ट्रेनी ऑफिसर कोविड-19 का शिकार हो गए हैं. बड़ी संख्या में संक्रमण फैलने के कारण संस्थान को तीन दिसंबर तक बंद करने का फैसला लिया गया है.

अकादमी के अधिकारियों ने रविवार को मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि 57 प्रशिक्षु अधिकारियों के कोविड-19 से पीड़ित पाए जाने के कारण संस्थान को तीन दिसंबर तक के लिए पूरी तरह से बंद कर दिया गया है और इस दौरान प्रशिक्षण सहित सभी गतिविधियों का संचालन ऑनलाइन किया जाएगा. उन्होंने बताया कि शुक्रवार से अब तक 57 अधिकारी प्रशिक्षु कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और उन सभी को एक विशेष रूप से तैयार कोविड केयर सेंटर में अलग रखा गया है. शुक्रवार से अब तक अकादमी में 162 आरटी-पीसीआर परीक्षण किए गए हैं. अधिकारी प्रशिक्षुओं और स्टाफ सदस्यों द्वारा सामाजिक दूरी रखने, लगातार हाथ धोने और मास्क पहनने से संबंधित प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जा रहा है.

कोविड-19 इंडिया के अनुसार, उत्तराखंड में कोरोना वायरस के कुल 70,790 केस सामने आ चुके हैं. जिनमें से 1146 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, देहरादून में अब तक कुल 1.9 लाख टेस्ट हुए हैं. यहां संक्रमण के मामलों की संख्या 19920 है. जबकि, कोविड-19 के चलते देहरादून जिले में अब तक 635 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.वहीं, भारत में कोरोना मरीजों की संख्या 91 लाख होने के करीब है. देश में कोरोना के चलते 1 लाख 33 हजार 282 लोगों की जान जा चुकी है. फिलहाल भारत में एक्टिव मामलों की संख्या 4 लाख 40 हजार 708 है और 85 लाख 21 हजार 465 लोग ठीक होकर घर लौट चुके हैं.

राजधानी दिल्ली में भी बढ़ते कोरोना कहर के लिए भी राज्य और केंद्र सरकार ने कमर कस ली है. एक ओर दिल्ली सरकार ने मास्क नहीं पहनने पर जुर्माने की रकम को बढ़ाकर 2 हजार रुपए कर दिया है. वहीं, दूसरी ओर हाल ही में गृहमंत्री अमित शाह ने भी संक्रमण की रोकथाम के लिए एक बैठक की साथ ही आपको बता दें कि महाराष्ट्र देश का कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्राभावित राज्य है. यहां 17 लाख 74 हजार 455 लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं. वहीं, 46 हजार 573 लोगों की मौत हो चुकी है.