बिहार में नीतीश सरकार ने 2 लाख नौकरियां देने की तैयारी किया शुरू, 6 विभागों के खाली पड़े पदों को भरे जायेंगे.

बिहार में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व में एनडीए की नई सरकार ने कामकाज संभालने के साथ ही रोजगार के मुद्दे (Government Jobs) पर खास फोकस किया है। जानकारी के मुताबिक, अगले साल यानी 2021 में सूबे (Bihar News) में अलग-अलग विभागों में करीब दो लाख सरकारी नौकरियां आने वाली हैं। इसको लेकर प्रदेश सरकार ने कवायद शुरू कर दी है। सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से खाली पड़े पदों को भरने के लिए जरूरी आदेश भी जारी कर दिया है। सरकार के इस फैसले का सीधा असर युवाओं को मिलेगा और उनके पास इन नौकरियों को हासिल करने का मौका होगा।

तेजस्वी के रोजगार के मुद्दे पर नीतीश सरकार ने बढ़ाए कदम : दरअसल, बिहार चुनाव के दौरान रोजगार का मुद्दा काफी प्रमुखता से उठाया गया था। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने इस मुद्दे को लेकर सीएम नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा था। यही नहीं चुनाव के दौरान 10 लाख नौकरी के उनके वादे का असर भी नजर आया और युवाओं का उन्हें अच्छा खासा सपोर्ट मिला। हालांकि, फाइनल नतीजों में महागठबंधन के मुकाबले एनडीए ने बाजी मारी और बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनी। इस बीच सत्ता में आते ही नीतीश कुमार सरकार ने रोजगार के मुद्दे को प्रमुखता देते हुए इस पर तेजी से कदम उठाना शुरू कर दिया है।

6 विभागों के खाली पड़े पदों को भरने की तैयारी : जानकारी के मुताबिक, बिहार में नए साल यानी 2021 में 6 विभागों के करीब दो लाख खाली पड़े पदों को भरा जाना है। इसमें स्थायी नियुक्ति को लेकर बहाली की प्रक्रिया जारी है। बताया जा रहा कि इसके अगले कुछ महीने में पूरा होने की संभावना है। इनमें सहायक प्राध्यापक, प्राइमरी टीचर, आयुष डॉक्टर, जूनियर इंजीनियर, दारोगा, सिपाही समेत अलग-अलग विभागों के दर्जनों पद शामिल हैं।

शिक्षा, स्वास्थ्य समेत इन विभागों में होगी नियुक्ति : मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शिक्षा विभाग में 4600 से ज्यादा सहायक प्राध्यापक के पद खाली हैं। प्राइमरी शिक्षकों की भी नियुक्ति होनी है। स्वास्थ्य विभाग में करीब 3300 आयुष चिकित्सकों के अलावा 10 हजार के करीब नर्स और पैरामेडिकल स्टाफ की नियुक्ति की संभावना है। इनके अलावा एक हजार विशेषज्ञ और 2200 सामान्य डॉक्टरों की नियुक्ति की प्रक्रिया भी जल्द शुरू होगी। बिहार पुलिस में दारोगा से लेकर सिपाही तक अलग-अलग करीब 12 हजार से ज्यादा पदों पर नियुक्ति किया जाना है। इसको लेकर जरूरी प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।

युवाओं के पास मौका, इन पदों पर आवेदन के लिए रहें तैयार : पंचायती राज विभाग में 1600 के करीब कार्यपालक सहायकों के पद खाली पड़े हैं। विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग में भी 8 हजार से ज्यादा खाली पदों को भरने की सिफारिश की जा चुकी है। मंत्री अशोक चौधरी ने सभी रिक्त पदों को भरने का एलान किया है। इंजीनियरिंग कॉलेजों में शिक्षकों के करीब 2100 और पॉलिटेक्निक कॉलेजों में 1100 से ज्यादा पदों को भरने के लिए जरूरी कदम उठाए जा चुके हैं। राजस्व और भूमि सुधार विभाग में भी करीब 6000 कर्मियों की नियुक्ति को लेकर प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इसे भी अगले दो महीने में पूरा होने की उम्मीद है।