Samastipur Crime : समस्तीपुर में फिर दिल्ली जैसा निर्भया कांड ! बदमाशों ने एक किशोरी को अगवाकर गैंगरेप के बाद की हत्या.

 

समस्तीपुर में फिर एक दिल्ली के निर्भया कांड जैसा मामला सामने आया है। घटना (Samastipur) मुफस्सिल थाना क्षेत्र के एक गांव की है जहां बदमाशों ने एक किशोरी को अगवाकर गैंगरेप किया उसके के बाद जहर खिला कर उसकी हत्या कर दी। इससे आक्रोशित ग्रामीणों ने सोमवार को किशोरी के शव के साथ सड़क जाम कर समस्तीपुर – रोसड़ा मुख्य पथ पर आवागमन बाधित कर दिया। इस दौरान घटना की जांच के लिए पहुंचे एक पुलिस अधिकारी को लोगों ने खदेड़ कर भगा दिया। परिजनों का कहना है कि उसने किशोरी के लापता होने की प्राथमिकी दर्ज करने के नाम पर पैसा की मांग की थे।

 

आक्रोशित ग्रामीणों ने किया सड़क किया जाम :

इस दौरान जाम के कारण लगभग तीन घंटे तक समस्तीपुर-रोसड़ा मुख्य पथ पर यातायात पूरी तरह ठप रही। बाद में काफी मशक्कत के बाद स्थानीय बुद्धिजीवी व जनप्रतिनिधियों के सहयोग से पुलिस ने लोगों को शांत करा यातायात बहाल कराया। उसके बाद किशोरी के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा गया। इस मामले में किशोरी के परिजन के बयान पर दो लड़कों सहित अन्य पर प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है, जिसके बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है। वहीं, घटना के बाद आरोपी दोनों युवक परिवार के साथ फरार है। बताया जा रहा है कि दोनों आरोपी पीड़ित परिवार के पड़ोसी हैं।

 

परिजनों ने कहा आरोपियों को बचा रही है पुलिस :

ग्रामीणों ने लड़की की मौत मामले में रेप के बाद हत्या का आरोप लगाया है। उन्होंने इस पूरे घटना की तुलना निर्भया कांड से की है। परिजनों का आरोप है कि किशोरी के साथ दरिंदगी के बाद उसकी हत्या की गई है। परिजनों ने बताया कि किशोरी को गांव का ही एक युवक बुलाकर अपने घर ले गया। जहां दो युवकों ने उसके साथ गैंगरेप किया। इस दौरान उसकी मांग में सिंदूर भी डाल दिया गया। फिर जहर खिला दिया। परिजनों ने बताया कि घटना 25 अगस्त की रात की है। काफी खोजबीन के बाद दूसरे दिन किशोरी युवक के बगल के घर से बेहोश मिली। जिसके बाद उसे सदर अस्पताल पहुंचाया गया, जहां से पटना रेफर कर दिया गया। पटना में इलाज के दौरान रविवार देर रात किशोरी की मौत हो गयी।

25 अगस्त की रात से  गायब थी किशोरी :

पीड़ित परिवार ने बताया कि 25 अगस्त की रात किशोरी  गायब हो गई। खोजबीन के दौरान पता चाल कि जीतन कुमार, अमित कुमार और दो अन्य अज्ञात उसे उठाकर ले गया है। इस घटना की जानकारी पुलिस को दी, लेकिन पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज नहीं की। उन्होंने बताया कि थाने में शिकायत करने पहुंचे थे तो दरोगा केस दर्ज करने के लिए 20 हजार रुपए की मांग की।

किशोरी के पिता ने बताया कि उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। फिर 26 अगस्त की शाम जहर देकर उसकी हत्या कर दी गई। इसके बाद घर के बाहर मरा समझ कर फेंक दिया। ग्रामीणों ने बेहोश लड़की को देखा तो सूचना दी। उसे आनन-फानन में सदर अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए पीएमसीएच रेफर कर दिया गया। सोमवार सुबह उसकी मौत हो गई। परिवार के लोग शव लेकर समस्तीपुर लौट तो लोग आक्रोशित हो गए।

सड़क जाम से घंटों आवागमन रहा बाधित :

बता दें कि आज सुबह परिवार के लोग जब पटना से शव लेकर समस्तीपुर लौट तो ग्रामीण आक्रोशित हो गए। घटना के विरोध में ग्रामीणों ने शव के साथ समस्तीपुर-रोसड़ा सड़क जाम किया। इससे सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। इससे लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी। पुलिस ने शीघ्र आरोपियों को गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया। इसके बाद ग्रामीण सड़क से हटे।

क्या कहते हैं डीएसपी :

इस मामले में सदर (Samastipur) डीएसपी संजय कुमार पांडेय ने बताया कि घटना की प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को सौंप दिया गया है। इस घटना में विभिन्न बिंदुओं पर मामले की जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि किसी पुलिस पदाधिकारी ने प्राथमिकी दर्ज करने के लिए परिजन से पैसे नहीं मांगा है। वे लोग शिकायत के लिए थाना पहुंचे थे, लेकिन उसी समय लड़की के मिलने की सूचना मिलने पर वापस चले गए। पटना से शव आने के बाद आक्रोशित ग्रामिणों ने शव के साथ लक्खी चौक जाम कर समस्तीपुर रोसड़ा मुख्य पथ जाम कर दिया। आक्रोशित लोग आरोपी युवकों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।