बिहार में लाल ईंट-भट्ठों के लिए अब नहीं मिलेगा लाइसेंस. Red Brick Manufacturer License

सरकार अब लाल ईंट बनाने वाले भट्ठों को लाइसेंस नहीं देगी। पुराने ईंट-भट्ठे पहले की तरह चलेंगे। फिलहाल राज्य में लगभग पांच हजार लाल ईंट-भट्ठे संचालित हैं। नेशनल पावर थर्मल कारपोरेशन (एनटीपीसी) को 300 किलोमीटर के दायरे में ईंट निर्माताओं को फ्लाई-ऐश उपलब्ध कराने को कहा गया है।

ये बातें मंगलवार को बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद एवं डेवलपमेंट अल्टरनेटिव के संयुक्त तत्वावधान में राजधानी के एक होटल में आयोजित कार्यशाला में पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के मंत्री नीरज कुमार सिंह ने कहीं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार, एनटीपीसी को मुफ्त में 300 किलोमीटर के दायरे में ईट-भट्ठों को फ्लाई-ऐश मुहैया कराना है।

 

अधिकांश ईंट निर्माता शिकायत कर रहे हैं कि फ्लाई-ऐश नहीं मिल रही है। मंत्री ने कहा कि कई एनटीपीसी की इकाई से फ्लाई-ऐश आपूर्ति में धांधली की शिकायत भी मिल रही है, इसे दूर करने की जरूरत है। मंत्री ने कहा कि अगर ईंट निर्माताओं को फ्लाई-ऐश नहीं मिलेगी तो वे अपना प्लांट बंद कर देंगे। इससे प्रदेश में बेरोजगारी बढ़ेगी।

Leave a Reply