बिहार में जज के सरकारी आवास में दिनदहाड़े लूटपाट, लुटेरों ने पत्नी-बेटी को भी पीटा. criminals looted in judge house in rohtas

criminals looted in judge house in rohtas : बिहार में अपराधियों ने जज के परिवार के साथ बड़ी घटना को अंजाम दिया है. मामला रोहतास जिला के बिक्रमगंज से है जहां बिक्रमगंज अनुमंडल न्यायालय के सिविल जज महेश्वर नाथ पांडे के आवास पर दिनदहाड़े तीन की संख्या में आए अपराधियों ने लूटपाट की और चलते बने. बताया जाता है कि बिक्रमगंज कोर्ट में पदस्थापित प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी महेश्वर नाथ पांडे जब कोर्ट चले गए थे, उसी दौरान तीन की संख्या में अपराधी उनके दरवाजे पर पहुंचे और जज को खोजने लगे.

 

पीने के लिए पानी भी मांगा

जब जज की पत्नी गुंजा देवी ने बताया कि जज साहब कोर्ट गए हैं, तो उसके बाद तीनों ने पीने के लिए पानी की मांग की. जैसे ही जज के घर की नौकरानी पानी लाने अंदर गई, तब तक तीनों अपराधियों ने पत्नी को बंधक बना लिया और मारपीट करने लगे. इस दौरान बदमाशों ने आलमारी में रखे 50 हज़ार रुपए के अलावा उनकी पत्नी के सभी आभूषण खुलवा लिए साथ ही 5 साल की बेटी लाडो के साथ भी मारपीट की गई.

घर पर पत्नी और बेटी थीं मौजूद

सिविल जज महेश्वर पांडे ने बताया कि 50 हज़ार नगदी के अलावे लगभग 2 लाख के आभूषण की लूटपाट हुई है, साथ ही उनकी पत्नी और बच्चे के साथ मारपीट भी की गई है. जिस समय अपराधियों ने जज के सरकारी आवास पर धावा बोला, उस समय घर में जज की पत्नी तथा बेटी के अलावे एक नौकरानी थी. दिनदहाड़े तीनों को कब्जे में लेकर लूटपाट की घटना को अंजाम दिया गया. अपराधियों के जाते ही जज की पत्नी ने फोन कर जब वारदात के बारे में बतलाइ तो हड़कंप मच गया.

मौके पर बिक्रमगंज थाना की पुलिस के अलावा अन्य अधिकारी पहुंचे. साथ ही कई न्यायिक अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए हैं. दिनदहाड़े हुए वारदात में तमाम सुरक्षा के दावों की पोल खोल दी है. बता दें कि जज लोगों के रहने के लिए आवास एकांत इलाके में है जहां पहले भी आसपास अपराधियों को भटकते देखा गया था. न्यायिक अधिकारियों ने कई बार इसके लिए सुरक्षा की डिमांड भी की थी.

जज ने कहा- पहले से था असुरक्षा की अंदेशा

इस घटना के बाद सिविल जज माहेश्वर पांडे ने बताया कि चुकी उनके आवास का इलाका काफी सुनसान क्षेत्र में है तथा पहले भी कुछ संदिग्ध लोगों को इलाके में घूमते देखा गया था इसके लिए उन्होंने कई बार अधिकारियों को सूचना भी दी एवं आवास इलाके के सुरक्षा के संबंध में मौखिक रूप से भी न्यायिक एवं प्रशासनिक अधिकारियों को सूचना दी थी लेकिन फिर भी इस तरह के वारदात से घर में रह रहे परिवार के लोग चिंतित हो गए हैं.

डीएसपी शशि भूषण सिंह मौके पर पहुंचे

घटना की संवेदनशीलता को देखते हुए बिक्रमगंज के डीएसपी शशि भूषण सिंह मौके पर पहुंच गए तथा डॉग स्क्वायड को भी बुलाया जा रहा है ताकि अपराधियों की जल्द से जल्द पहचान की जा सके. जिस तरह से सरेआम दिनदहाड़े एक जज की आवाज में लूटपाट की घटना को अंजाम दिया गया है. उसके बाद प्रशासन हरकत में आ गई है.

Leave a Reply